Friday, October 15, 2010

फिर हाथ हिलने लगते हैं - अनुपम कर्ण




आँखों के सामने 
गिरता है डब्लू टी सी 
कानो में गूंजता है 
२६/११ के बंदूकों की आवाज़ 
यादें ताज़ा कर देती है ये मेरियट होटल की 

सपनो में जब 
इराक का सफर करता हूँ 
एक भी घर नही मिलता 
शुकुन-ओ-चैन का 
फिर लौटता हूँ , मैं 
फिलिस्तीन , तालिबान , पाकिस्तान 
होते हुए कश्मीर को 
सुनता हूँ तिब्बत के बौद्ध-भिक्षूओं की मौन आवाजें 

लगता है
हर जगह एक चीख है
जो हर मौत के साथ 
दबा दी जाती है 
पर , मौत की चीखें 
आसानी से नही दबते 
अपनी प्रतिध्वनियों के साथ
और  विकराल हो जाते हैं 

इससे घबराकर मैं 
कानो को ,  आँखों को 
बंद कर लेता हूँ 
फिर हाथ हिलने लगते हैं  

12 comments:

  1. बहुत बढ़िया अनुपम जी ! लाजवाब

    ReplyDelete
  2. क्या आप एक उम्र कैदी का जीवन पढना पसंद करेंगे, यदि हाँ तो नीचे दिए लिंक पर पढ़ सकते है :-
    1- http://umraquaidi.blogspot.com/2010/10/blog-post_10.html
    2- http://umraquaidi.blogspot.com/2010/10/blog-post.html

    ReplyDelete
  3. ब्लाग जगत की दुनिया में आपका स्वागत है। आप बहुत ही अच्छा लिख रहे है। इसी तरह लिखते रहिए और अपने ब्लॉग को आसमान की उचाईयों तक पहुंचाईये मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ
    ‘‘ आदत यही बनानी है ज्यादा से ज्यादा(ब्लागों) लोगों तक ट्प्पिणीया अपनी पहुचानी है।’’
    हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

    मालीगांव
    साया
    लक्ष्य

    हमारे नये एगरीकेटर में आप अपने ब्लाग् को नीचे के लिंको द्वारा जोड़ सकते है।
    अपने ब्लाग् पर लोगों लगाये यहां से
    अपने ब्लाग् को जोड़े यहां से

    कृपया अपने ब्लॉग पर से वर्ड वैरिफ़िकेशन हटा देवे इससे टिप्पणी करने में दिक्कत और परेशानी होती है।

    ReplyDelete
  4. बहुत सुंदर.
    दशहरा की हार्दिक बधाई ओर शुभकामनाएँ...

    ReplyDelete
  5. आप सबको बहुत-बहुत धन्यवाद, इसे पसंद करने के लिए.
    साथ ही दशहरा की हार्दिक शुभकामनाएं !!!!!!!!
    @उम्र कैदी/ आशुतोष जी - लिंक के लिए धन्यवाद जल्द ही पढ़ कर अपनी अभिव्यक्ति प्रस्तुत करूँगा .
    @योगेन्द्रनाथ जी आपका 'bio'दिल को भा गया
    काश हम सभी मिलकर इस सोच को आगे बढाएं !!
    @सुरेन्द्र सिंह जी हौसलाफजाई के लिए शुक्रिया !

    ReplyDelete
  6. हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
    कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपने बहुमूल्य विचार व्यक्त करने का कष्ट करें

    ReplyDelete
  7. bahut khoobsurat aur kadwa sach kehti rachna...

    ReplyDelete

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...